Meri Ulfat Madine Se Lyrics | मेरी उल्फत मैदाने से लिरिक्स

Meri Ulfat Madine Se Lyrics : मेरी उल्फत मैदाने से लिरिक्स the naat song is sung by Allama Hafiz Bilal Qadri. the music video of the Meri Ulfat Madine Se Lyrics song. Meri Ulfat Madine Se Lyrics hindi & english both here Below.on the picture.


Meri Ulfat Madine Se Lyrics  मेरी उल्फत मैदाने से लिरिक्स
Meri Ulfat Madine Se Lyrics मेरी उल्फत मैदाने से लिरिक्स

Meri Ulfat Madine Se Lyrics


Meri Ulfat Madine Se Yun Hi Nahi
Mere Aaqa Ka Roza Madine Mein Hai

Mein Madine Ki Jaanib Na Kaise Khinchu
Mera Deen Or Duniya Madine Mein Hai

Arsh E Aazam Pe Jis Ki Badi Shaan Hai
Roza E Mustafa Jis Ki Pehchan Hai
Jis Ka Hum Palla Koi Mohalla Nahi
Ek Aisa Mohalla Madine Mein Hai

Meri Ulfat Madine Se Yun Hi Nahi
Mere Aaqa Ka Roza Madine Mein Hai

Phir Mujhe Mout Ka Koi Khatra Na Ho
Mout Kya Zindagi Ki Bhi Parwah Na Ho
Kaash Sarkaar Ek Baar Mujh Se Kahe
Ab Tera Jeena Marna Madine Mein Hai

Meri Ulfat Madinay Say Yun Hi Nahi
Mere Aaqa Ka Roza Madinay Main Hai

Sarware Do Jahaan Se Dua Hai Meri
Ye Budo Chashmey Tar Ilteja Hai Meri
Un Ki Fehreest Mein Mera Bhi Naam Ho
Jinn Ka Roz Ana Jaana Madine Mein Hai

Meri Ulfat Madinay Say Yun Hi Nahi
Mere Aaqa Ka Roza Madinay Main Hai

Jab Nazar Suye Taiba Rawana Hui
Sath Dil Bhi Gaya Saath Jaan Bhi Gai
Mein Muneer Ab Rahunga Yaha Kisliye
Mera Sara Asasa Madine Mein Hai.

Meri Ulfat Madine Se Yun Hi Nahi
Mere Aaqa Ka Roza Madine Mein Hai

(Sallallahu Alaihi Wa Sallam)

Meri Ulfat Madine Se Lyrics Video Song

Meri Ulfat Madine Se | Mere Aqa Ka Roza | Allama Hafiz Bilal Qadri | Meri Ulfat Madine Se Lyrics | मेरी उल्फत मैदाने से लिरिक्स | Meri Ulfat Madine Se Lyrics – Allama Hafiz Bilal Qadri

मेरी उल्फत मैदाने से लिरिक्स


मेरी उल्फत मदीने से यूँ ही नहीं, मेरे आक़ा का रोज़ा मदीने में है
मैं मदीने की जानिब न कैसे खींचूं, मेरा दीन और दुनिया मदीने में है

मेरी उल्फत मदीने से यूँ ही नहीं, मेरे आक़ा का रोज़ा मदीने में है

फ़िर मुझे मौत का कोई ख़तरा न हो,
मौत क्या ज़िंदगी की भी परवा न होकाश !
इक बार सरकार मुझ से कहें,

अब तेरा जीना-मरना मदीने में है मेरी उल्फत मदीने से यूँ ही नहीं,
मेरे आक़ा का रोज़ा मदीने में हैअर्श-ए-आज़म
से जिस की बड़ी शान है,

रोज़ा-ए-मुस्तफा जिस की पहचान है
जिस का हम-पल्ला कोई मोहल्ला नहीं,

एक ऐसा मोहल्ला मदीने में है
मेरी उल्फत मदीने से यूँ ही नहीं,

मेरे आक़ा का रोज़ा मदीने में है
सरवर-ए-दो-जहाँ ! मुदआ है मेरा, हां !
बदू-चश्म-ए-तर मुदआ है
मेराउन की फेहरिस्त में मेरा भी नाम हो,

जिन का रोज़ आना-जाना मदीने में है
मेरी उल्फत मदीने से यूँ ही नहीं,
मेरे आक़ा का रोज़ा मदीने में हैजब नज़र सू-ए-तयबा रवाना हुई,
साथ दिल भी गया,

साथ जां भी गईमैं मुनीर अब रहूँगा यहाँ किस लिए !
मेरा सारा असासा मदीने में हैमेरी उल्फत मदीने
से यूँ ही नहीं, मेरे आक़ा का रोज़ा मदीने में है.

Read more..

Mere Hussain Tujhe Salaam lyrics 

lam yati nazeero kafi nazarin lyrics in Hindi

Hasbi Rabbi Jallallah Naat Lyrics in Hindi

Haal E Dil Kisko Sunaye Naat Lyrics in Hindi 

We hope you understood song Meri Ulfat Madine Se Lyrics | मेरी उल्फत मैदाने से लिरिक्स in Hindi both. If you have any issue regarding the lyrics of this song, please contact us.Thank You For Visiting my cgsonglyricz.in website i hope you come ! Again

Sharing Is Caring:

Leave a Comment